मिर्गी के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज

मिर्गी क्या है?

मिर्गी को अंग्रेजी में एपिलेप्सी (Epilepsy) कहतें है। आयुर्वेद में इसे अपस्मार कहा जाता है। मिर्गी  के मरीजों को अक्सर चक्कर और बेहोशी आने लगती है। हर बार झटके आते हैं। कभी-कभी तो आती ही नहीं है। यह केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (Nervous system ) की एक बीमारी है यह मस्तिष्क (Brain) में विद्युत गतिविधि के टूटने के कारण होता है।

मिर्गी के लक्षण

1. चक्कर आना।  2. कोई प्रतिक्रिया न करना।  3. गर्दन, हाथ, पैर अड़ाटेडे होना। 4. एकतरफ नज़र टिकाये रखना। 5. कोई प्रतिक्रिया न करना।

जेनेटिक  प्रभाव।  सिर में चोट।  मस्तिष्क की स्थिति। संक्रामक रोग। जन्म के पूर्व की चोट। विकास संबंधी विकार।

मिर्गी के कारण

मिर्गी के घरेलू उपाय के लिए मछली के तेल का सेवन करें| मिर्गी से बचने के लिए एक्यूपंक्चर करवाएं| मिर्गी से छुटकारा पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा आराम करें| मिर्गी बीमारी के लिए व्यायाम करें मिर्गी के दौरे कम करने के लिए खाने में बदलाव लायें

मिर्गी के घरेलू उपचार

अधिक जानकारी के लिए हमारी  वेबसाइट को विजिट करे बटन निचे दिया है। धन्यवाद